वैबसाइट पे traffic down क्यू है ?

traffic

दोस्तो जो लोग ब्लॉगर है या जिनकी wordpress वैबसाइट है उनको कई बार अपनी वैबसाइट का traffic डाउन होने का डर रहता है। आपको तो पता है की ब्लॉगिंग मे काफी मेहनत तो वैबसाइट पे traffic लाने मे होती।

सिर्फ google adsense का अपरोवाल लेके कुछ मतलब नहीं होता जब तक की आपके वैबसाइट पे अस्छा खासा ट्रेफिक न आता हो। नए ब्लॉगर को काफी मेहनत ओर smartwork करना पड़ता है तब जाके trafficआना चालू हो जाता है।

गूगल अपना अल्गोरिथम समय समय पर change करता रहता है जिस के कारण कई बड़ी वैबसाइटोका traffic एकदम से गिर जाता है। traffic एक दम से गिर जाने के बाद ऐसा लगता है की सारी मेहनत पे पानी फेर गया हो।

पर इस मे डर ने की कोई बात नहीं है क्यूकी अक्सर ऐसा होते रहता है। आपको आपका काम मेहनत से करना है क्यूकी जैसे आपकी वैबसाइट का traffic डाउन हुआ है वैसे ही कुछ दिनो मे ट्रेफिक वापिस अप हो जाएगा।

वैसे तो ओर भी कई सारे कारण है जिस से आपकी वैबसाइट का trafficडाउन हो सकता है। इस लिए आपको उन problems को ढूंढ के अपने से ही हल करना है। आपको आपके google search console मे ही ज़्यादातर प्रॉब्लेम्स का पता चल जाएगा।

1- google Algorithm change

google अपना Algorithm समय समय पर बदलते रहता है। कई बार इस बदलते Algorithm के कारण हमारे वैबसाइट पे बुरा असर पड़ता है। अगर google मे rank करना है तो हर एक वैबसाइट को गूगल Algorithm का पालन करना होता है।

जैसे ही कोई नया Algorithm update आता है तो हमे भी हमारी वैबसाइट को उस Algorithm के हिसाब से अपडेट करना पड़ता है नहीं तो हमारी वैबसाइट de-rank हो जाती है। हमे इस बात का खास ख्याल रखना होता ही की गूगल कोनसा अपडेट ला रहा है ओर उनकी पॉलिसी मे क्या चेंजेस किए गए है।

2- block by robots.txt file

आपको robots.txt file क्या ही वो पता ही होगा। हमारे वैबसाइट मे robots.txt file सबसे अहम भूमिका निभाती है ओर सबसे महत्वपूर्ण भी है। बिना robots.txt file के आपकी वैबसाइट न crawl होगी ओर नाही google मे index।

कई बार ऐसा होता है की google crawler हमरे वैबसाइट आता है मगर वो वापिस चला जाता है क्यूकी की हमारी robots.txt file उसे crawl करने की अनुमति नहीं देती है । इसलिए हमे robots.txt file को जांच ना जरूरी है ताकि ये पता चल सके की कई हमने गलती से block ना किया हो। robots.txt file देखने के लिए हमे https://example.com/robots.txt को टाइप करे के सर्च करना है।

  • User-agent: * – मतलब की सारे सर्च बोट्स को अनुमति है।
  • Disallow: /wp-admin/ – मतलब की बोट्स को admin पैनल को crawl करने की अनुमति नहीं है।
  • Allow: /wp-admin/admin-ajax.php – मतलब की admin पैनल के अंदर जो भी post है उसे crawl करे।

इस तरीके से अप ओर भी चिजे एड़ कर सकते हो ओर जो चाहे वो allow या disallow कर सकते हो।

3- changes in XML sitemap

XML sitemap हमारे वैबसाइट का एक तरीके से मॅप होता है जिस मे हमरी पोस्ट से लेके कई सारे चिजे एड़ होती है। XML sitemap से गूगल बोट्स हमारे पोस्ट को index करने मे ज्यादा आसानी होती है।

कभी कभी हमारे XML sitemap मे कुछ बदलाव होने के कारण हमारी ट्रेफिक काफी कम हो जाती है। हमे हमारी sitemap को चेक करना है की उस मे वो सारी urls होनी चाहिए जो नयी ओर पुरानी पोस्ट की है।

अगर आपकी टोटल पोस्ट के मुक़ाबले कम पोस्ट की sitemap है तो आपको फिर से नयी sitemap को generate करना होगा ओर उसे google search console मे सबमिट करना होगा। साइट मॅप देखने के लिए आपको https://example.com/sitemap.xml को टाइप करके सर्च करना होगा।

4- Manual actions and penalties by google

कभी कभी हमारी वैबसाइट या पोस्ट को ban या panalize किया जाता है। अगर आपकी पोस्ट google guidelines को follow नहीं करती है तो आपकी पोस्ट को गूगल द्वारा panalize किया जाता है । आपको google search console मे security and manaual actions मे जाके चेक करना होगा।

5 – de-indexed URLs

हम पोस्ट लिखते है ओर फिर बोट्स आके उसे crawl करके index कर देता है ओर कुछ dino मे वो पोस्ट rank होने लगती है। मगर एक समय ऐसा आता है की उस पोस्ट की ट्रेफिक अचानक से कम हो जाती है ओर वो पोस्ट गूगल दिखना बंद हो जाती है।

गूगल मे पोस्ट का अचानक से न दिखना उसे url का de-index होना कहते है। आपको google search console मे उस पोस्ट को ढूंढन है ओर उसे फिर से इंडेक्स करवाना है।

6 – URLS crawling ERROR

google search console मे coverage सेक्शन मे हमे कुछ error दिखाई देते है जिसे हम URLS crawling ERROR कह ते है। हमे उस error वाले urls को क्लिक करके ये देखना है की वो error किस चीज़ से संबंदीत है ओर हमे उसे फिक्स करके validation के ल्ये भेजना है।

7 – slow loading website

जिस वैबसाइट की लोडिंग speed काफी बेहतर है गूगल उसी वैबसाइट को rank मे लाता है। आप कितना भी अस्छा कंटैंट लिखो मगर आपकी वैबसाइट स्लो होगी तो आपकी पोस्ट rank नहीं कर पायेगी। इसलिए हमे हमेशा वैबसाइट के स्पीड पे ध्यान देना है।

अगर वैबसाइट की speed कम है तो आपको उसकी speed को बढ़ाना होगा। आप AMP PLUGIN का इस्तेमाल करके वैबसाइट के स्पीड को काफी हद तक बढ़ा सकते हो।

8 – AMP PLUGIN problem

दोस्तो गूगल ये चाहता है की हर कोई वेबपेज कम से कम समय मे मोबाइल मे लोड हो। ज़्यादातर वैबसाइट काफी स्लो लोड होती है इस कारण गूगल AMP plugin को इस्तेमाल करने की सलाह देता है।

इस plugin के इस्तेमाल से आपके वेबपेज की loading speed काफी हद तक बढ़ जाती है। इस से इस्तेमाल करने के लिए आपको इस plugin की setting को सही से update करनी होगी। अगर setting मे कुछ खामी है तो आपके पेज मोबाइल पे शो नहीं करते है इस कारण आपकी वैबसाइट की traffic घट सकती है।

Leave a Comment